१० वैकल्पिक मालिश तकनीकों जो आपको प्रयास करने की आवश्यकता है

Advertisements



जब आप अपने स्थानीय स्पा में ६० मिनट की पूर्ण शरीर की मालिश के लिए बुक करवाने जाते है, तब आप संभवतः दर्जनों विभिन्न तकनीकों के बारे में नहीं सोचते हैं। आपको सिर्फ आराम देने के अलावा, यह १० अद्वितीय मालिश तकनीक शारीरिक चमत्कार और साथ ही आपके समग्र स्वास्थ्य और कल्याण को बेहतर बनाने में काम करती हैं।

 

 

1. गौ शा या “आखुरण”
इस तकनीक में, आप त्वचा को चमचा या समान उपकरण द्वारा हलकी चोटऔर लालिमा पैदा करने के लिए खरोंचते है। यह जाहिरा तौर पर घायल भागो के स्वास्थ्य में मदद करता है और उपचार को प्रोत्साहित करता है, और कहा जाता है कि दर्द में काफी सुधार होता है।यह वर्णित किया गया है की आपको ऐसा महसूस होगा की आपका खून बह रहा है, भले ही वैसे न हो, और लोग कहते हैं कि यह आश्चर्यजनक रूप से काम करता है। सब कुछ एक बार कोशिश करो, है ना?

 

 

2. एक्यूपंक्चर
लोग अक्सर अपने शरीर में डाली गई पतली सुई की भीड़ से डरते हैं, लेकिन यह आपके सबसे अच्छे उपहारों में से एक है जो आप अपने शरीर को दे सकते हैं। और यह वास्तव में दर्द नहीं करता है (बस हिले नहीं)। यह प्राचीन चीनी तकनीक सचमुच किसी भी मुद्दे में मदद कर सकती है, चाहे वह जठरांत्र संबंधी मुद्दा हो, प्रजनन, त्वचा या मासिक विकार हो।


3. डीप टिस्यू
यह केंद्रित मालिश वास्तव में असर करता है और सभी ग्रंथि पर काम करता है। धीमी प्रहार के साथ तीव्र दबाव, पुरानी दर्द, अंग-विन्यास समस्याओं, या पीड़ादायक गले की मांसपेशियों जैसे समस्याओ को दूर करने में मदद करता है। यह कार्पल टनल सिंड्रोम और ओस्टियोआर्थराइटिस के दर्द को कम करने में भी मदद करता है।

 

 

4. शिआत्सू
शिआत्सू एक जापानी पद्धति है जिसमें मालिश करनेवाले शरीर के सभी हिस्सों में लयबद्ध पैटर्न में अपने हाथ (और कभी-कभी कोहनी) के साथ स्थानबद्ध दबाव लागू करते हैं। यह संतुलन और ऊर्जा प्रवाह को बढ़ावा देने के लिए एक्यूप्रेशर स्थिति को उत्तेजित करता है, और कई तरह की समस्याओं में मदद कर सकता है।


5. फुट रिफ्लेक्सोलॉजी
रिफ्लेक्सोलॉजी, या दबाव पैरो में कुछ रिफ्लेक्स पॉइंट पर लागू होता है जो अंगों और शरीर प्रणालियों के अनुरूप होता है। यह अवसाद से पीएमएस और सर्जरी के बाद के दर्द के लिए भी इलाज कर सकते हैं। उत्तेजित तंत्रिका विभक्ति जो ऊर्जा और एंडोर्फिन को मुक्त कर सकते हैं, तो क्यों नहीं आज ही अपने पैरों को मालिश करे?

 

 

6. हॉट स्टोन मालिश
चिकनी गरम पत्थरों का उपयोग करना जो शरीर पर विशिष्ट बिंदुओं पर रखा जाता है। गर्मी विश्रान्ति को बढ़ावा देती है और तंग मांसपेशियों को शिथिल करती है इसलिए समस्या वाले भाग बेहतर हो सकते हैं। यह आम तौर पर ज्वालामुखीय पत्थर होते हैं जो गर्मी को अच्छी तरह से बनाए रखते हैं।


7. कपिंग
इन चोटों वाला परिणाम जितना उसे लगता है उससे अधिक डरावना होता है। और वे एक सप्ताह के भीतर चले जाते हैं, इसलिए चिंता मत करो! कपिंग रक्त प्रवाह के लिए और तंत्रिका-तंत्र को आराम देने के साथ ही साथ माइग्रेन, चिंता, और यहां तक कि सेल्युलाईट के लिए भी अदभुत है। सक्शन कप त्वचा पर रखे जाते हैं और दबाव के माध्यम से राहत प्रदान करते हैं।


8. क्रेनियोसेकरल थेरेपी
यह चिकित्सा तकनीक यूटीआई, अनिद्रा और अस्थमा का इलाज कर सकता है। यह सदी की पुरानी खोज पर आधारित है कि कपाल हड्डियां शरीर के सीएनएस और तरल पदार्थ से और साथ ही मास-तंतु से भी संबंधित हैं। इस अनन्य मालिश शैली में प्राकृतिक तरल पदार्थ के परिसंचरण और मांस-तंतु को बढ़ावा देने के लिए श्रोणि, खोपड़ी, और निचले रीढ़ पर उंगली का दबाव लागू होता है।

 

 

9. थैलेसाथैरेपी
कभी उन शानदार समुद्री शैवाल या कीचड़ में लपेटा हुआ कोई एक विज्ञापन देखा है? यह मूल रूप से यह चिकित्सा है। यह सूखी त्वचा का इलाज कर सकता है, समग्र स्वास्थ्य और आपके प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाता है। इससे फ़िब्रोमिल्जिया का भी इलाज किया जाता है और यह लोकप्रिय है क्योंकि समुद्री जल में मौजूद खनिजों और तत्वों शरीर को परिसंचरण करता है और शरीर में से विषाक्त को विसर्जित करने में सक्षम हैं।


10. अरोमाथेरेपी
मालिश में सुगंध को जोड़ने की प्रक्रिया गहराई से बेहतर मूड से जुडी समस्याए, तनाव, और नींद की समस्याओं के लिए जानी जाता है। सुगंद पौधों से निकाले जाने वाले आवश्यक तेलों से आती हैं, और वे न्यूरोट्रांसमीटर और अन्य कारकों को ट्रिगर करते हैं जो बर्ताव और भावनाओं को नियंत्रित करते हैं, जो आपके मनोदशा के नाम से जाना जाता है।