ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय – Her Beauty

ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

Advertisements

आजकल अक्सर लोगों की ऑयली स्किन को लेकर समस्या बनी रहती है। गर्मियों में तो समस्या और अधिक बढ़ जाती है क्योंकि स्किन और भी चिपचिपी हो जाती है। इसका जवाब यह निकलता है कि त्वचा पर मुंहासे, रेशेज़, स्किन एलर्जी आदि की समस्या बढ़ जाती है।

ऐसे में आप मेकअप करने के बारे में सोच भी नही सकती हैं। मार्केट में आज तरह तरह के क्रीम उपलब्ध हैं, जो ऑयली स्किन को क्लियर करने का दावा करते है। पर आज भी लोग अक्सर घरेलू नुस्खों को क्रीम पर तवज्जों देते हैं।

तो अगर आप कुछ ऐसे घरेलू नुस्खों को ढूंढ रहे हैं को आपको ऑयली स्किन से निजात दिला पाए तो आप सही जगह पर है। इसमें हम तमाम नुस्खों की बात करेंगे।

1. करें दही का प्रयोग

दही ना केवल खाने के लिए, बल्कि लगाने के लिए भी सर्वोत्तम फेसपैक है। इसे नॉर्मल से लेकर ड्राई और ऑयली स्किन वाले तक लगा सकते हैं, लेकिन तैलीय त्वचा पर यह सबसे ज़्यादा फायदा पहुंचता है। बता दें कि इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड त्वचा को ऑयलफ्री रखने के अलावा उसे चमकदार भी बनाता है।

सबसे पहले अपने चेहरे पर लगाएं। दही से 2 मिनट तक अच्छी तरह से चेहरे पर मसाज करें। फिर इसे 5 मिनट तक रहने दें। अपने चेहरे को ठंडे पानी से धोएं और साफ तौलिये से थपथपाकर सुखाएं। ऐसा करने के बाद साबुन बिल्कुल ना लगाएं। तैलीय त्वचा के लोग इसे बेसन के साथ मिलाकर लगाएं, तो यह त्वचा को पतला और जवां रखेगा।

2. ओटमील दिलाएगा राहत

दही की तरह ओटमील भी त्वचा और स्वास्थ्य दोनों के लिए ही फायदेमंद है। यह सीबम के अत्याधिक उत्पादन को रोकने में सक्षम है। यह एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी है। यह एक बेहतरीन फेस स्क्रब भी है। तैलीय त्वचा वालों के स्किन से यह चिकनाई को हटाने में मददगार है। सप्ताह में दो बार लगाने से आपकी तैलीय त्वचा चमकदार हो जाएगी।

3. शहद से करें स्क्रब

शहद एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक है। शहद में क्लींजिंग प्रॉपर्टीज भी होती हैं, जो त्वचा को भीतर से साफ़ करता है। इसे दूध और बादाम के पेस्ट के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाएं। यकीन मानिए आपका चेहरा 10 मिनट में खिल उठेगा। इसका उपयोग करने से आपकी त्वचा को पोषण मिलने के साथ ही स्किन टोन होगा।

Loading...

इससे मृत त्वचा कोशिकाएं भी बाहर निकल जाती हैं। एक-एक चम्मच शहद, दही और कॉफी पाउडर लें। इन्हें एक साथ अच्छी तरह से मिला लें। अपने चेहरे पर इसका पेस्ट लगाएं। दो मिनट के लिए इस पेस्ट को चेहरे पर लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।

4. हल्दी है लाभकारी

हल्दी एंटीबैक्टीरियल है और यही वजह है कि हमारे शरीर पर चोट लगने पर हल्दी वाला दूध पीने कि सलाह दी जाती हैं। पहले के ज़माने में अक्सर चोट वाली जगह पर भी हल्दी का लेप लगाया जाता था, ताकि किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचा सके।

तैलीय त्वचा पर हल्दी और दूध का मिश्रण रामबाण का काम करता है। यदि आपकी त्वचा अत्याधिक तैलीय है तो इसे गुलाबजल के साथ मिलाकर लगाए। यह आपकी स्किन को टोन करने के साथ उसे चमकदार भी बनाएगा।

5. नींबू भी है फायदेमंद

हमने स्कूल में पढ़ा है कि नींबू में विटामिन-सी की मात्रा भरपूर होती है। सिट्रिक एसिड होने की वजह से यह एस्ट्रिंजेंट का काम करता है। एक कॉटन बॉल को नींबू के रस और डिस्टिल्ड वॉटर के साथ मिलाकर कुछ देर चेहरे पर रखें। यह प्रक्रिया सप्ताह में कम-से-कम दो बार करें। ऐसा करने से आपकी स्किन यंग लगेगी और निखार भी भरपूर आएगा।

6. मददगार है एलोवेरा

एलोवेरा में रोगाणुरोधी, और घाव भरने वाले गुण होते हैं। तैलीय त्वचा के लिए घरेलू उपचार के रूप में उपयोग करना लाभकारी सिद्ध होगा। सबसे पहले एलो वेरा के अंदर से जेल निकाल ले। जेल का इस्तेमाल करने के लिए व्यक्ति चेहरे पर एक पतली परत लगा सकता है। इसे रात भर के लिए छोड़ा जा सकता है। अगर समय कम है तो कुछ घंटों में भी इसको धोया जा सकता है।

Advertisements