भले ही आप युवा हैं लेकिन कोरोना वायरस किसी मजाक का कारण क्यों है?



हाल ही में सूचना सामने आई है कि युवा लोग गंभीर संकट में हैं यदि वह इस रोग के सीधे संपर्क में आते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि ये महामारी कोई हास्य नहीं है।

कुछ समय से संपूर्ण विश्व को अस्थाई तौर पर बंद पर रखा गया है। सारे नगर भूतहा हो गए हैं और इनकी अधिकतर आबादी स्व- पृथक्करण में हैं या ज्यादातर लोग सार्वजनिक स्थलों पर जाने से परहेज कर रहे हैं। वैसे तो यह रोग वृद्धों के लिए अधिक संकटकारी साबित हुआ है, लेकिन युवा इस बात को संजीदगी से नहीं ले रहे हैं और इसी सोच को बदलने की आवश्यकता है।

स्प्रिंग बेकर्स के कुछ वीडियो में आपने उन्हें अपने स्वास्थ्य और स्वयं को किसी भी संकट में डाल बेतहाशा लापरवाही से कार्य करते देखा होगा। हाल ही में यह सूचना सामने आई है कि युवा लोग गंभीर संकट में हैं यदि वह इस रोग के सीधे संपर्क में आते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि ये महामारी कोई हास्य नहीं है।

1. भले ही आपको लगता है कि आप अपराजेय हैं लेकिन आप संकट में पड़ सकते हैं। चिकित्सालय में भर्ती होने वाले रोगियों में 40 प्रतिशत रोगियों की आयु 20 से 54 वर्ष थी जो इस बीमारी के बारे में सभी अनुमानों का लांछनीय विस्फोट करती है। यह गणना हाल ही में एक सी डी सी आख्या में जारी की गयी थी।

2. एक लंबे समय तक लोग घर से बाहर रहना चाहते हैं जैसे कुछ भी गलत नहीं है। यह वायरस जो संभावित लाखों लोगों की अकाल मृत्यु और गंभीर रोग का कारण है। यह हवा में लंबे समय तक रहता है।

3. भले ही हम युवा हों या स्वस्थ हों, यह रोग हमारे फेफड़े या शरीर के किसी भी आवश्यक अंग को क्षतिग्रस्त करने का कारण बन सकता है। अर्थात कोई भी सिगरेट पीने वाला व्यक्ति या जिसके फेफड़े स्वस्थ नहीं है, वह संकट में है।

4. यहाँ तक कि यदि आप में इस रोग के कोई लक्षण नहीं है तथापि आप इस रोग के वायरस के वाहक हो सकते हैं और इस रोग को अपने चाहने वालों में एक गंभीर संकट के रूप में फैला सकते हैं जिसके भयंकर परिणाम हो सकते हैं।

5. इसके लक्षण सामान्य सर्दी या फ्लू जैसे हो सकते हैं लेकिन इस समय इसके कोविड-19 होने की प्रबल संभावना है।

6. जितने ज्यादा लोग इस बात पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। समूह में बाहर जा रहे हैं उनसे इस बात की ज्यादा संभावना है कि हम विश्व में और अधिक रूप बदलती विपत्ति और महामारी की ओर कदम बढ़ा रहे हैं।

7. चिकित्सालय में अधिक शय्या संक्रमित लोगों के लिए है जिन पर यह युवा काबिज हैं अर्थात उन लोगों के लिए कम शय्या है जिनके लिए यह रोग जानलेवा साबित हो रहा है।

8. इस रोग का पहला संकट या पहला प्रहार तब है जब गर्मी का मौसम समाप्त होता है और शीत ऋतु आती है। हमें फिर संक्रमित होने का खतरा हो सकता है क्योंकि कोविड-19 नामक यह रोग जाड़े में अपना पैर पसारता है।

9. क्योंकि आप यह सोचते हैं कि आपके पास प्रारंभ में यह लक्षण नहीं है तो आप संक्रमित नहीं है। लेकिन ऊष्मायन या रोग प्रकट होने की अवधि आने तक अधिक से अधिक लोग रोगी हो सकते हैं।

10. यह एक हास्य क्यों है? इटली पर ही दृष्टि डालिए। भले ही दक्षिण कोरिया और चीन की आख्या में अधिकतर वृद्ध रोगियों को दर्शाया गया है, एशिया में तो यह था भी। इटली में यह महामारी उच्च स्तर पर पहुँच गई, किसी ने यह सोचा नहीं था कि यह सभी उम्र की जनसंख्या को प्रभावित करेगी। यूरोप की सीमा पर इसकी रोक न होने के कारण यह जंगल की आग की तरह फैल गयी और अगर हम अपने आचरण को नहीं बदलते हैं तो इसके आगे जारी रहने का कोई कारण नहीं है।

11. यदि आप की स्वास्थ्य स्थिति इन स्थितियों में से एक है- जैसे मधुमेह या हृदय रोग, तब एक युवा के रूप में भी आप कोरोना वायरस के द्वारा वृद्ध व्यक्ति से अधिक संकट में हैं।

12. अगर मुझे कोरोना मिलता, तो मैं किसी को भी कहता हूँ इस गणना को देखें। 20 से 44 आयु वर्ग के सिर्फ 12 प्रतिशत मामले आई सी यू में थे। 35 वर्ष से अधिक लोगों में 27 प्रतिशत मामले जानलेवा थे। 75-84 वर्ष के 31 प्रतिशत मामले आई सी यू में थ और 11 प्रतिशत घातक थे। 65-74 वर्ष की आयु वाले 19 प्रतिशत आई सी यू में थे और 5 प्रतिशत जानलेवा थे। ये संख्या तेजी से बढ रही है।

13. क्योंकि मैं युवा हूँ और दुर्बल नहीं हूँ का यह रवैया ही सबसे कमजोर कड़ी है। जो इस घातक परिस्थिति में इस संक्रमण से बचने के अवसर को अनावश्यक रूप से नष्ट कर रहा है।

14. यह लंबे समय तक चल सकता है। स्वास्थ्य परिणामों की चिंता न भी करें तो यह हमारी अर्थव्यवस्था, व्यापार और शेयर बाजार को गिरावट की स्थिति में पहुँचा देगा। अभी तो विश्व के नेता अपने देश की जनता और व्यापार को समर्थन दे रहे हैं, लेकिन यह स्थिति भी एक निश्चित समय तक ही रह सकती है।

15. जबकि अब भी लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूम रहे हैं, यात्रा कर रहे हैं या अपनी यात्रा की सूचना और इतिहास दूसरों को नहीं बता रहे हैं।

16. इस वायरस का जितना अधिक प्रसार होगा, कोविड-19 से संक्रमित कोई भी व्यक्ति पृथक रहने को बाध्य होगा तथा अपने विद्यालय या कार्य की कमी को महसूस करेगा। पहले से ही अनेक नौकरियों पर संकट मंडरा रहा है।

17. यदि हम इसके लिए पहले से कुछ नहीं सोचते हैं तो दोनो युवा और वृद्ध तथा बच्चों को लंबे समय तक विद्यालय के बिना रहना पड़ेगा। युनाइटेड स्टेट के अनेक बच्चे अपने अभिभावकों की आय के मुद्दे के कारण दिन के भोजन के लिए विद्यालय पर निर्भर हैं और अगर यह इसी तरह चलता रहा तो आय के मुद्दे में एक समस्या और बढ़ जायगी।