भारत की सात सबसे प्रभावशाली महिला उद्यमी



वर्तमान समय में महिलाएं पुरुषों से भी आगे निकल चुकी हैं। खुद के दम पर आज ये महिलाएं अपना व्यवसाय न केवल अपने शहर तक सीमित कर रही हैं, बल्कि देश और विदेशों में भी चर्चा का विषय बन चुकी हैं। उनका विवरण निम्नवत है।

1) इंदिरानुई

इंदिरा नुई युवा व्यवसाइयों के बीच एक जाना पहचाना नाम हैं। वे पेप्सिको कम्पनी की प्रेसिडेंट व मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। हालांकि इंदिरा नुई ने पेप्सिको में कार्य करने से पहले प्रसिद्ध मोबाइल कम्पनी मोटोरोला में और एशियन ब्राउन में भी उच्च पदों पर काम किया है। इनकी महती उपलब्धि को देखते हुए इन्हें कई प्रतिष्ठित पुरस्कार भी मिल चुके हैं।

2) इंदूजैन

आप प्रतिष्ठित जैन परिवार से आती हैं। इस समय ये भारत के सबसे बड़े मीडिया समूह, बेनेट कोलमैन एंड कम्पनी लिमिटेड की सर्वेसर्वा हैं। इस ग्रुप के अंतर्गत ही “द टाइम्स ऑफ इंडिया” और कई बड़े अखबार आते हैं। ये अध्यात्म में विशेष रुचि रखती हैं। ये शिक्षाविद व मानवतावादी वादी उद्यमी हैं। इन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मभूषण से सम्मानित किया जा चुका है।

3) किरण मजूमदारशा

आप वायकॉम लिमिटेड की मुखिया व प्रबन्ध निदेशिका भी हैं। इनकी कम्पनी बायोफार्मास्युटिकल के क्षेत्र में एक जाना पहचाना नाम है। किरण मजूमदार भारतीय प्रौदयोगिकी संस्थान हैदराबाद की सम्मानित सदस्या भी हैं। इन्हें पद्मश्री व पद्मभूषण सम्मान भी प्राप्त हो चुके हैं।

4) चंदाकोचर

चंदा कोचर जी आईसीआईसीआई बैंक की प्रबन्ध निदेशिका व मुख्य कार्यकारी अधिकारी रह चुकी हैं। इन्होंने अपनी मैनेजमेंट की पढ़ाई में स्वर्ण पदक भी प्राप्त किया है। चंदा जी के कुशल नेतृत्व में बैंक ने भारत में बेस्ट बैंक रिटेल का सम्मानित पुरस्कार भी जीता था। इन्हें बिजनेस वोमेन ऑफ द ईयर का खिताब भी मिल चुका है।

5) वंदनालूथरा

वंदना लूथरा सौंदर्य उत्पादों के क्षेत्र में सुप्रसिद्ध नाम हैं। इस समय एशिया, अफ्रीका सहित लगभग पन्द्रह देशों में इनके उत्पाद प्रयुक्त किये जाते हैं। जब वे गृहिणी थी तभी से इसका शुभारंभ उन्होंने कर दिया था। उन्होंने पढ़ाई के दौरान ही ब्यूटी फिटनेस और स्किन केयर से सम्बंधित अनेक जानकारियां हासिल कर लीं थी। आप पद्मश्री से सम्मानित हैं।

6) एकताकपूर

बालाजी टेलीफिल्म्स, टेलिविज़न व छोटे पर्दे पर एक विख्यात नाम है। टेलीविजन के क्षेत्र में एकता कपूर ने अपनी बुलन्दी का परचम फहराया हुआ है। बालाजी टेलीफिल्म्स की आधारशिला रखने का श्रेय एकता कपूर को ही जाता है। सास भी कभी बहू थी, कहानी घर घर की इत्यादि इनके चर्चित धारावाहिक हैं।

7) अदितिगुप्ता

वे अदिति गुप्ता ही थीं जिन्होंने सर्वप्रथम मेंस्ट्रोपीडिया के बारे मे खुलकर सोचा था। उन्होंने अपने शोध कार्य के दौरान ही इसके विभिन्न पहलुओं को गहराई से जाना। इनकी कम्पनी के द्वारा ही पीरियड व मेन्सट्रयूशन से जुड़ी तमाम अनलाइन उपलब्ध कराई जाती है।

निष्कर्ष

उपरोक्त अध्ययनोपरांत हम पाते हैं किण् भारतीय नारियों ने उद्यमिता के क्षेत्र में भी अपना लोहा मनवाया है। वे कुशल गृहिणी होने के साथ ही साथ सफल उद्यमी भी साबित हो रही हैं।