श्रृंगार के बिना उर्वशी रौतेला कैसी दिखती है



मात्र 26 वर्षीय उर्वशी रौतेला बाॅलीवुड के मनोरंजन व्यवसाय में खुद का एक नाम स्थापित करने में सफल रही है। हर किसी का मानना है कि वह उत्कृष्ट सुंदरी और प्रतिभावान हैं और उनके प्रशंसक संपूर्ण विश्व में हैं। न केवल मनोरंजन व्यवसाय में उनका कार्यकाल अच्छा चल रहा है वरन् आॅन लाइन भी उनकी उपस्थिति अत्यंत प्रभावशाली है। इंस्टाग्राम पर उसके 26 मिलियन अनुयायी हैं। जब हम उर्वशी रौतेला को संपूर्ण श्रृंगार में उनके सम्मोहक रूप को सर्वश्रेष्ठ समझते हुए देखते हैं तो सोचते हैं कि उन्हें बिना श्रृंगार के देखना कितना आनंददायक होगा जो आपको उनके जीवन के विषय में बहुत कुछ और बताएगा।

तो आरंभ से शुरूआत करते हैं। 25 फरवरी 1994 को उर्वशी रौतेला का जन्म हरिद्वार में हुआ। पर उनका पैतृक निवास कोटद्वार है। वह हमेशा ही एक सुंदरी थी। उन्हें मात्र 15 वर्ष की आयु में पहला बड़ा अवसर प्राप्त हुआ। ‘विल्स लाइफ स्टाइल इंडिया फैशन वीक‘ में एक प्रतिमान (माॅडल) के रूप में भाग लिया। तत्पश्चात उन्होंने ‘लैक्मे फैशन वीक‘, ‘दुबई फैशन वीक‘, ‘बाँबे फैशन वीक‘ और ‘अमेजन फैशन वीक‘ में भी भागीदारी की और ‘मिस टीन इंडिया ब्यूटी‘ पुरस्कार उसने 2009 में जीता।

ल्ेकिन उर्वशी सुंदर होने के साथ-साथ होशियार भी है। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए ‘गार्गी काॅलेज, दिल्ली विश्व विद्यालय‘ गई। उसने न्यूयार्क फिल्म अकादमी के ‘स्कूल आॅफ फिल्म और एक्टिंग टैलेंट‘ से अभिनय कला में उपाधि प्राप्त की। इस तरह उसने सिर्फ अपने रूप पर विश्वास न कर अभिनय कला का भी अध्ययन किया।

यदि हम उनके अभिनय कार्यकाल की चर्चा करें तो उनको अभिनय का पहला अवसर 2013 में ‘सिंह साब द ग्रेट‘ में प्राप्त हुआ जिसमें उन्होंने ‘मिन्नी‘ की भूमिका में अभिनय किया। उस समय वह मात्र 19 वर्ष की थी। उसके पश्चात उर्वशी ‘सनम रे’, ‘ग्रेट गै्रंड मस्ती’, ‘पागलपंती’ और ‘हेट स्टोरीज 4’ में दृष्टिगोचर हुईं। वह अनेक वेब श्रृंखला और संगीत वीडियो में भी दिखीं। इनका अनेक पुरस्कारों के लिए भी नामांकन हुआ, जिसमें ‘बेस्ट फिमेल’ डेब्यू और ’बेस्ट डेब्यू आॅफ द ईयर’ भी जुड़ा हुआ है।

बात जब उनके माॅडलिंग और सौंदर्य स्पर्धा कार्यकाल की आती है तो उर्वशी का जीवन वृत्त (सी.वी.) अत्यंत प्रभावशली है। 2011 में ’मिस टूरिज्म आॅफ द वल्र्ड’, ’मिस एशियन सुपर माॅडल’, ’मिस टूरिज्म आॅफ द ईयर’ और ’इंडियन प्रिंसेस’ का खिताब मात्र 17 वर्ष की आयु में प्राप्त किया। आगामी वर्ष 2012 में इन्होंने ’मिस यूनिवर्स इंडिया’ का खिताब जीता लेकिन इस उपाधि का ताज उन्हें छोड़ना पड़ा क्योंकि वह उस समय कम उम्र की थी। उस समय वह इससे व्यथित हो सकती थी लेकिन उसने 2015 में फिर प्रयास कर यह खिताब जीत लिया। वह एकमात्र ऐसी युवती है जिसने मिस यूनिवर्स इंडिया का खिताब दो बार जीता। हम आपको यह बताना चाहते हैं कि यह युवती कितनी लावण्यमयी है।

जैसा कि आप देख सकते हैं कि उर्वशी श्रृंगार के अभाव में भी उतनी ही मोहक लग सकती हैं।अनेक बार वह साधारण रूप में वैसी ही दिखती है जैसी वह दैनिक जीवन में है और बड़े कार्यक्रमों के लिए वह सम्मोहक श्रृंगार करती है। जैसा कि आप देखते उसकी त्वचा अत्यंत कांतिमय है वह भी तब जब उसने कोई श्रृंगार न किया हो। वह जिम में कड़ा परिश्रम कर रही है फिर भी वह मोहक दिखती है।

अवकाश होने पर उर्वशी श्रृंगार करने को व्यथित नहीं होती क्योंकि वह त्वचा को भी विश्राम देने के महत्व को जानती है और अनावश्यक होने पर श्रृंगार कर अपनी त्वचा के रोम छिद्रों को बंद नहीं करती।

स्पष्टतया उर्वशी रौतेला अपनी त्वचा की बहुत देख-भाल करती है और विश्वस्त रहती है कि उसकी त्वचा हर समय बेदाग और नमीयुक्त रहे। वह अपने शारीरिक गठन पर कार्य करती है इसका तात्पर्य हलके व्यायाम अथवा कुछ समय ट्रेडमिल पर दौड़ना नहीं है, उर्वशी अपने शारीरिक गठन को सुडौल रखने के लिए भार उठाने से भी भयभीत नहीं होती।