तैलीय त्वचा की देख-रेख के 7 तरीके



हमारी त्वचा में सीबम होता है जो त्वचा को लचक और कोमलता प्रदान करता है। सीबम की मात्रा त्वचा के प्रकार पर निर्भर करती है। रूखी त्वचा में यह कम होता है और तैलीय त्वचा में अत्यधिक मात्रा में होता है। जब हमारी त्वचा में इसकी मात्रा अधिक हो जाती है तो त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। जिससे हमारे चेहरे पर मुहाँसे हो जाते हैं तथा अन्य कई प्रकार की त्वचा संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यदि आपकी त्वचा भी तैलीय है तो हम आपको कुछ ऐसे उपाय बता रहे हैं जिनकी सहायता से आप अपनी तैलीय त्वचा की उचित देखभाल कर सकते हैं।

1. अपनी त्वचा का अतिरिक्त तेल हटाने के लिए किसी सौम्य साबुन और हलके गरम पानी का प्रयोग करें। चेहरे को स्वच्छ करने के लिए किसी चीज से रगड़े नहीं क्योंकि चेहरे की कोमल त्वचा के लिए यह हानिकारक होगा। चेहरे की सफाई के लिए किसी सौम्य क्लींजर का प्रयोग करें।

2. कच्चे दूध में मौजूद तत्व तैलीय त्वचा से तैलीय पदार्थ कम करने में सक्षम है। इसके लिए आप कच्चे दूध में चंदन मिलाकर त्वचा पर लगाएँ और सूखने पर धो दें। तैलीय त्वचा के दाग-धब्बों को दूर करने के लिए कच्चे दूध में बेसन, हल्दी और केसर मिलाकर चेहरे पर प्रतिदिन लगाएँ। दाग-धब्बे दूर हो जाएँगें। इसके अतिरिक्त कच्चे दूध में नींबू का रस मिलाकर क्लींजर के रूप में भी इसका प्रयोग किया जा सकता है।

3. फल सेहत के साथ-साथ हमारे रंग-रूप पर भी असर डालते हैं। ये त्वचा की देख-भाल के भी अच्छे साधन हैं। स्ट्राॅबेरी में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो त्वचा के लिए उपयोगी है। यह त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने के साथ-साथ त्वचा से अतिरिक्त तेल को निकाल कर त्वचा को कील-मुहाँसे से सुरक्षित रखती है। इसके गूदे को पीस कर उसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएँ। 20 मिनट बाद इसे सादे पानी से धो लें। हर हफ्ते इस पैक का प्रयोग करें।

4. हम सभी पानी के लाभों के बारे में जानते हैं, लेकिन बहुत कम लोग यह जानते हैं कि बर्फ भी त्वचा की देख-रेख में सहायक है। आइस क्यूब त्वचा को ठंडक देकर खुले रोम छिद्रों को बंद कर देते हैं जिससे त्वचा कम तैलीय होती है। बस आइस क्यूब के प्रयोग में हमें यह सावधानी रखनी है कि इसे किसी साफ कपड़े में लपेटकर चेहरे पर लगाएँ और रगड़ें नहीं।

5. यदि आपकी त्वचा तैलीय है तो गुलाब जल में चंदन का पाउडर मिलाकर लेप तैयार कर लें। इसे चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। आधे घंटे के बाद चेहरा सामान्य पानी से धो लें। इसके नियमित प्रयोग से चेहरे का अतिरिक्त तेल खत्म हो जाएगा।

6. गरमी में तैलीय त्वचा पर पसीना अधिक होने से रोम छिद्र खुल जाते हैं जिससे त्वचा संबंधी समस्याएँ बढ़ जाती हैं इसलिए त्वचा के रोम छिद्रों से तेल हटाने के लिए स्क्रब का प्रयोग करें।

7. तैलीय त्वचा वालों की त्वचा चिकनी और चमकीली होती है। रोम छिद्र बड़े होते हैं जिससे त्वचा संबंधी समस्याएँ होती है। इससे बचाव के लिए पीले फलों जैसे संतरा, आम, टमाटर, पपीता आदि का सेवन करना चाहिए क्योंकि इनमें विटामिन सी और ए प्रचुर मात्रा में होता है।